Breaking News

चोरों ने ATM से पैसा निकालने के लिए खोजी Unique Trick, जानकर हर कोई हैरान

वारदात के लिए ये शातिर चोर कैश निकालने वाली नहीं बल्कि कैश जमा करने वाली मशीन को निशाना बनाते थे. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की कई ब्रांच के एटीएम पर ऐसी वारदातों को अंजाम दिया गया.

चेन्नई: चोरी करने के लिए चोर किन-किन तरकीबों का इस्तेमाल कर सकते हैं, इसका ताजा उदाहण चेन्नई में देखने को मिला, जहां चोरों ने एटीएम मशीन में बगैर किसी तोड़फोड़ किए लाखों रुपये की चोरी कर डाली. इसले लिए शातिर चोरों ने बड़ी ही अनोखी तरकीब खोजी है, जिसे जानकर हर कोई हैरान है.

डिपॉजिट मशीन को बनाया निशाना

वारदात के लिए ये शातिर चोर कैश निकालने वाली नहीं बल्कि कैश जमा करने वाली मशीन को निशाना बनाते थे. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की कई ब्रांच के एटीएम पर ऐसी वारदातों को अंजाम दिया गया. चोरी के लिए चोरों ने सबसे पहले मशीन के अलार्म सेंसर को जाम कर दिया ताकि पैसे निकलने पर मशीन को पता ही न चल सके. इस तरह उन्होंने बगैर मशीन में तोड़फोड़ किए चोरी की इस वारदात को अंजाम दिया.

डिपॉजिट मशीन से पैसे निकालते हुए सबसे पहले इन चोरों ने सेंसर को ब्लॉक कर दिया. इस सेंसर से पता चलता है कि पैसा निकला है या नहीं. करीब 20 सेकंड तक पैसा नहीं उठाने पर मशीन खुद ही पैसे को वापस ले लेती है. लेकिन सेंसर ब्लॉक होने की वजह से मशीन ऐसा कर पाने में फेल हुई.

बैंक में दर्ज नहीं हुआ रिकॉर्ड

सेंसर ब्लॉक होने की वजह से मशीन समझती है कि कैश इकट्ठा नहीं हो पाया लेकिन इस बीच चोर वहां कैश उठा लेते थे. ऐसा करने से बैंक के सिस्टम में भी कैश निकासी दर्ज नहीं हो पाती थी. इस तरह की वारदात को अंजाम देते हुए करीब 10 लाख रुपये की चोरी की गई है.

पुलिस को शक है कि ये चोर किसी अन्य राज्य से आकर यहां चोरी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं. इनकी गिरफ्तारी के लिए दो टीमों का गठन किया गया और ऐसी डिपॉजिट मशीन से कैश निकासी की सुविधा को अस्थाई तौर पर सस्पेंड कर दिया गया. इन चोरों तक पहुंचने के लिए एसबीआई के वरिष्ठ अधिकारियों ने कमिश्नर के साथ बैठक की और जल्द से जल्द इन चोरों को पकड़ने की गुहार लगाई है.

About News Posts 24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *