Breaking News

WTC Final की पिच और फॉर्मेट दोनों ही बेकार थे?

WTC Final को खत्म हुए एक हफ्ते से ऊपर हो चुका है, लेकिन ये इवेंट चर्चा से बाहर जा ही नहीं रहा. तमाम चीजों के बाद अब पिच पर चर्चा शुरू हो चुकी है. और इस चर्चा में पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंज़माम उल हक़ भी शामिल हो गए हैं. इंज़माम ने अपने यूट्यूब चैनल के जरिये ICC पर निशाना साधा है.

इंज़ी ने कहा कि ICC ने इतने बड़े फाइनल मैच के लिए ऐसी पिच बनाने की अनुमति कैसे दे दी, जिस पर सिर्फ गेंदबाज़ों का ही दबदबा रहा? इंज़माम की माने तो इतने बड़े मैच में ऐसी पिच तैयार की जानी चाहिए जिसपर गेंदबाज़ और बल्लेबाज़ दोनों के लिए मदद हो.

पूर्व पाकिस्तानी बल्लेबाज़ का मानना है कि फाइनल में इस्तेमाल हुई पिच गेंदबाज़ों के लिए ज्यादा मददगार थी. और इसके चलते एक कड़ा मुक़ाबला देखने को नहीं मिला. इंज़माम ने अपने यूट्यूब चैनल के जरिए ICC पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘रिज़र्व डे को मिला लें तो मैच 6 दिनों का था जिसमें से लगभग चार दिन तो बारिश ही होती रही. इसके बाद भी, ढाई दिन में मैच का फैसला हो गया. मैं यह जानना चाहता हूं कि यह किसकी सलाह थी, कि इस फ़ाइनल के लिए ऐसी पिच तैयार की जाए जिस पर सिर्फ गेंदबाज़ ही दिखाई दें और बल्लेबबाज़ नहीं? मुझे समझ नहीं आता कि इतने बड़े मैच के लिए ऐसी पिच कैसे तैयार की जा सकती है.’

पिच से पहले WTC Final के फॉर्मेट को लेकर भी काफी सवाल उठाए जा चुके हैं. भारतीय कप्तान कोहली समेत कई क्रिकेट दिग्गजों का मानना है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का विजेता चुनने के लिए काम से काम तीन फाइनल खेले जाने चाहिए. इस पर इंज़माम ने कहा, ‘मेरी सलाह मानें तो फाइनल होम और अवे बेसिस पर होना चाहिए. इसमें एक नहीं, दो फाइनल खेले जाने चाहिए. इस बार की बात करें तो एक फाइनल न्यूज़ीलैंड में खेला जाना चाहिए था और दूसरा भारत में. साथ ही दोनों फाइनल्स के लिए पॉइंट तय किये जाने चाहिए थे. दोनों फाइनल्स के बाद जिसके पॉइंट्स ज्यादा होते उसे विजेता घोषित किया जाता.’

इंज़माम ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, ‘अगर यह एक वर्ल्ड कप टूर्नामेंट जैसा होता, जिसमें सारे मैच एक ही देश में खेले जाते, तब बात अलग थी. लेकिन अभी के लिए मेरी राय यही है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल होम और अवे बेसिस पर ही होना चाहिए. फाइनल में पहुंचने वाली दोनों टीमों की धरती पर एक-एक मैच खेला जाए और उसके बाद विजेता का फैसला किया जाए.’

इन तमाम बातों के बीच देखने लायक बात होगी कि आने वाले सालों में WTC फाइनल के फॉर्मेट में कुछ बदलाव होगा या नहीं. और अगर होता है तो नया फॉर्मेट कैसा होगा? क्या बेस्ट ऑफ़ थ्री वाला फॉर्मेट अपनाया जाएगा या ICC इंज़माम की सलाह को तवज्जो देगा?

About News Posts 24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *