Breaking News

राहुल गांधी फेक न्यूज केस में एंकर अरेस्ट:एंकर को पकड़ने पहुंची छत्तीसगढ़ पुलिस; गाजियाबाद पुलिस ने रोका, नोएडा पुलिस पकड़ ले गई

राहुल गांधी के खिलाफ फेक न्यूज चलाने के आरोपी जी-न्यूज के एंकर रोहित रंजन की मंगलवार सुबह नाटकीय ढंग में गिरफ्तारी हो गई। शुरुआत छत्तीसगढ़ पुलिस से हुई जो तड़के 5.30 रोहित के इंदिरापुरम स्थित घर के बाहर पहुंच गई। दरवाजे पर पुलिस देख रोहित ने ट्वीट कर UP पुलिस से मदद मांगी। गाजियाबाद पुलिस ने उनके ट्वीट का जवाब ट्वीट से दिया कि वे मदद के लिए जरूरी कार्रवाई कर रहे हैं। रायपुर पुलिस ने भी एंकर को इन्फॉर्म किया, वो भी ट्वीट के जरिए। कहा कि जांच में सहयोग करें। इस बीच गाजियाबाद के इंदिरापुरम की पुलिस भी रोहित के घर पहुंच गई। वहां रोहित की गिरफ्तारी को लेकर रायपुर और इंदिरापुरम पुलिस के बीच खींचतान चल ही रही थी कि नोएडा पुलिस की एंट्री हुई। नोएडा पुलिस ने कहा कि उनके यहां रोहित के खिलाफ केस दर्ज है, और वह रायपुर पुलिस के सामने रोहित को गिरफ्तार कर ले गई।

अब इस नाटकीय गिरफ्तारी को पूरे विस्तार से पढ़िए: मंगलवार सुबह 5:30 बजे रायपुर पुलिस एंकर रोहित को गिरफ्तार करने के लिए गाजियाबाद पहुंची। रोहित गाजियाबाद में इंदिरापुरम क्षेत्र में नियो स्कॉर्टिस सोसाइटी में रहते हैं। रोहित ने 6:16 बजे ट्वीट कर UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, ASP गाजियाबाद और ADG जोन लखनऊ से मदद मांगी। इसका जवाब रायपुर पुलिस ने ट्वीट पर ही देते हुए कहा कि वे पुलिस को सहयोग दें और अपना पक्ष कोर्ट में रखें। इस बीच गाजियाबाद पुलिस ने भी ट्वीट कर रोहित से कहा कि मामला उनके संज्ञान में है और वह जरूरी कार्रवाई कर रही है। करीब साढ़े छह बजे इंदिरापुरम पुलिस रोहित के घर के बाहर पहुंच गई।

बिना UP पुलिस की इजाजत के गिरफ्तारी को लेकर रायपुर और गाजियाबाद पुलिस के बीच बहस शुरू हो गई। तभी 7:15 बजे अचानक नोएडा पुलिस ने एंट्री ली और रोहित को गिरफ्तार कर लिया। नोएडा पुलिस का तर्क है कि उनके यहां एंकर रोहित के खिलाफ पहले से मामला दर्ज है। हालांकि, केस कब दर्ज किया गया था, इसका जवाब अफसरों ने नहीं दिया है। इंदिरापुरम के सीओ अभय मिश्रा ने रोहित की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

रोहित ने कहा- बिना लोकल पुलिस को जानकारी दिए आई छत्तीसगढ़ पुलिस

रोहित रंजन ने ट्वीट किया, जिसके बाद रायपुर पुलिस ने री-ट्वीट कर जवाब दिया।
रोहित रंजन ने ट्वीट किया, जिसके बाद रायपुर पुलिस ने री-ट्वीट कर जवाब दिया। रोहित रंजन ने मंगलवार सुबह 6.16 बजे ट्वीट किया, “बिना लोकल पुलिस को जानकारी दिए छत्तीसगढ़ पुलिस मेरे घर के बाहर मुझे अरेस्ट करने के लिए खड़ी है। क्या ये कानूनन सही है।” रोहित ने यह ट्वीट UP मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, ASP गाजियाबाद और ADG जोन लखनऊ को टैग भी किया है। रोहित रंजन के ट्वीट पर दिल्ली BJP के वरिष्ठ नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने लिखा, “प्लीज हेल्प शलभमणि त्रिपाठी जी।” शलभमणि त्रिपाठी ने बग्गा के इस टवीट के जवाब में लिखा है, “जी।”

छत्तीसगढ़ पुलिस बोली- सूचित करने का कोई नियम नहीं: एंकर रोहित रंजन के इस ट्वीट का जवाब देते हुए छत्तीसगढ़ की रायपुर पुलिस ने लिखा, “सूचित करने के लिए ऐसा कोई नियम नहीं है। फिर भी, अब उन्हें सूचित किया गया है। पुलिस टीम ने आपको कोर्ट का गिरफ्तारी वारंट दिखाया है। उन्हें वास्तव में सहयोग करना चाहिए, जांच में शामिल होना चाहिए और अपना पक्ष अदालत में रखना चाहिए।”

कांग्रेस ने कहा- रोहित ने अपना अपराध खुद कबूला है, सहयोग करे यूपी पुलिस

यूपी कांग्रेस ने रोहित की गिरफ्तारी के लिए यूपी पुलिस को सहयोग करने की बात कही।
यूपी कांग्रेस ने रोहित की गिरफ्तारी के लिए यूपी पुलिस को सहयोग करने की बात कही।

एंकर के खिलाफ छत्तीसगढ़-राजस्थान में दर्ज हैं केस: कांग्रेस का आरोप है कि पिछले दिनों एंकर रोहित रंजन ने अपने स्पेशल टीवी शो में वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के बयान को तोड़-मरोड़कर दिखाया। इससे उनकी छवि धूमिल हुई। इस मामले में छत्तीसगढ़ में एक FIR दर्ज हुई है। दो दिन पहले नोएडा में टीवी चैनल के बाहर प्रदर्शन करने और पुतला फूंकने के आरोप में 19 कांग्रेस कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी भी हुई थी। रोहित रंजन पर राजस्थान में भी इस बयान को लेकर मुकदमे दर्ज हुए हैं।

About News Posts 24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *